PO kaise bane
PO kaise bane

Bank me PO kaise bane

आज के समय में बैंक द्वारा समय-समय पर PO के लिए बड़े पैमाने पर भर्तियां निकाली जाती हैं। बहुत से स्टूडेंट का सपना होता है। कि व्गओ अपना करियर बैंक में एक PO के रूप में बनाये। इससे उसे तो सैलरी अच्हई मिलेगी ही। साथ में लोगो के सामने वो एक प्रतिष्ठित व्यक्ति भी बन जायेगा। अगर आप भी अपना कैरियर बैंक में PO के रूप में बनाना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अच्छे से पढ़े। इस आर्टिकल में आपको बैंक में पीओ क्या होता है, PO kaise bane, पीओ की सैलरी कितनी होती है। और भी पीओ बनने से सम्बंधित तमाम FAQ के बारे में बताने वाले है।

PO kya hota hai

अगर आप बैंक के पीओ के बारे में जानते है तो बहुत अच्छी बात है। लेकिन अगर नही जानते तो कोई बात नही। साडी जानकारी आपको एकदम सरल भाषा में देंगे। सबसे पहले जानते हैं कि PO होता क्या है। बैंक में पीओ को प्रोबेशनरी ऑफिसर कहा जाता है यह बैंक के जूनियर मैनेजर एवं असिस्टेंट मैनेजर की तरह होता है। यह बैंकिंग फील्ड में काफी अच्छा पद होता है। इसका भी काम बैंक में असिस्टेंट और जूनियर मेनेजर की तरह ही होता है। वैसे अगर आप इस पद पर डायरेक्ट भर्ती होते है। तो कुछ सालों में ही प्रमोशन भी होता है। और आपको एक अच्छा पोस्ट भी मिल जाता है।

अब आप Bank me PO क्या होता है। जान गए होंगे। आइये अब आपको बताते है। कि अगर आप बैंक में पीओ बनना चाहते है। तो आपके पास कौन कौन सी योग्यता होनी चाहिए।

योग्यता:-
– अगर आप बैंक के PO का एग्जाम देना चाहते हैं तो आपको किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से ग्रेजुएशन कम से कम 50% मार्क्स के साथ उत्तीर्ण होना जरूरी है।

– अगर आप प्राइवेट बैंक में PO के लिए जाते है। तो आपका मार्क्स 55% से कम नही होना चाहिए।

– अगर बात करें उम्र की तो आपका उम्र 21-30 वर्ष होना चाहिए इसमें OBC को 3 साल और SC/ST को 5 साल की छूट दी गई है।

– अगर आप ग्रेजुएशन के लास्ट ईयर में है। तब भी आप इसका एग्जाम दे सकते है। लेकिन इंटरव्यू के वक्त आपको ग्रेजुएशन के प्रमाणपत्र देना होगा।

आइये अब थोड़ी सी जानकारी प्राइवेट बैंक और सरकारी बैंक के जॉब में क्या क्या अंतर है। इसको जान लेते है।

प्राइवेट बैंक या सरकारी:-

सबसे पहले आपको तय यह करना है कि आप नौकरी प्राइवेट या सरकारी बैंक किस में करना चाहेंगे।अगर आप सरकारी बैंक में करना चाहेंगे। तो आपको IBPS का एग्जाम देना होता है। आप IBPS के वेबसाइट पर इसका अपडेट देख सकते हैं।

लेकिन अगर आप प्राइवेट बैंक में जॉब करना चाहते हैं। तो आपको इसके लिए अखबारों के विज्ञापन में इसका जानकारी मिलेगी। लेकिन याद रखे अखबारों में फ्रॉड जानकारी भी होती है। तो इन सब मामलो से भी सावधान रहें। इसके अलावा आप बैंकों के साइट पर भी चेक कर सकते हैं और वहां से इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। बैंक के साइट पर आपको साडी जाकारी मिल जायेगी।

आइये अब बात कर लेते है। अगर आप PO का एग्जाम देना चाहते है। तो आपको क्या क्या करना होगा।

परीक्षा:-

बैंक में पीओ बनने के लिए इसकी परीक्षा IBPS द्वारा तीन चरणों में कराई जाती है। जिनके बारे में आपको बिस्तार से सभी चीज़े बताई गयी है।

1- प्रारम्भिक परीक्षा-

सबसे पहला एग्जाम प्रारम्भिक परीक्षा होती है। इसे प पैरामिलिट्री एग्जाम भी कहते है। प्रारम्भिक परीक्षा 1 घंटे की होती है इसमें तीन पेपर एक साथ होता है। कुल मिलाकर 100 क्वेश्चन होते है। और 100 मार्क्स का पेपर होता है। इसमें रीजनिंग,मात्रात्मक योग्यता और अंग्रेजी भाषा से रिलेटेड क्वेश्चन होते है।

2- मुख्य परीक्षा-

प्रारम्भिक परीक्षा पास करने बाद आपको दूसरे मुख्य परीक्षा से होकर गुजरना पड़ता है। यह परीक्षा 3 घंटे की होती है इसमें 5 पेपर एक साथ होता है। इसमें रीजनिंग और कंप्यूटर, सामान्य ज्ञान/ बैंकिंग ज्ञान, अंग्रेजी भाषा, डेटा विश्लेषण और व्याख्या और अंग्रेजी भाषा (पत्र लेखन और निबंध) से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है। इसमें कुल 200 क्वेश्चन 200 मार्क्स का पूछा जाता है। जिसके लिए समय 140 मिनट दिया जाता है।

3- साक्षात्कार (इंटरव्यू) :-

इन दोनों परीक्षाओं को उत्तीर्ण करने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जायेगा। इंटरव्यू तय करेगा कि आपका सलेक्ट होंगे या नहीं। इंटरव्यू में आपसे कुछ क्वेश्चन पूछे जाते है। और आपके मानसिक क्षमता का आकलन किया किया जाता है।

आइये अब थोड़ी सी बात बैंक पीओ के सैलरी के बारे में भी कर लेते है। क्योकि लोग कुछ जानना चाहे या न चाहे लेकिन सैलरी को पूछिये मत। पहले किसी पद के बारे में लोग सैलरी जानना चाहते है।

वेतन:-
एक बैंक पीओ की सैलरी इसमें 30-50 हजार प्रतिमाह के आस-पास होती है। यह डिपेंड करता है। आप किस बैंक में जॉब कर रहे है। वैसे ये समय-समय पर बदलता रहता है। प्राइवेट बैंक में आप इससे ज्यादा भी सैलरी पा सकते है। क्योकि ये निर्धारित नही होता है। हर एक बैंक का अलग अलग होता है।

PO kaise bane

अगर आप बैंक में PO बनना चाहते है। और इसका पूरा प्रोसेस कैसे क्या क्या करना है। के बारे में जानना चाहते है। तो नीचे बताये गये स्टेप को फॉलो करें।

-12th पास करे।

सबसे पहला कदम आपको 12th पास करना है। कोई भी सब्जेक्ट से करे। एक बात याद रखे 12th में % अच्छा लेन का कोशिश करे। और पढ़ाई अच्छे से करे। क्योकि जानकारी आपके पास रहेगी तो नुकशान नही करेगी। आगे आपको इससे फायदा ही होगा।

-ग्रेजुएशन कम्पलीट करे

12th पास करने के बाद आपको ग्रेजुएशन में अड्मिशन लेना है। और अच्छे से पढ़ाई करना है। आप ग्रेजुएशन किसी भी स्ट्रीम से कर सकते है। इसके लिए कोई रोक नही है। ग्रेजुएशन कम्पलीट के बाद IBPS के एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते है। या फिर ग्रेजुएशन लास्ट ईयर में ही अप्लाई कर सकते है। एक बात याद रखे ग्रेजुएशन में कम से कम 55% मार्क जरूर लाये। ताकि आपको प्राइवेट बैंक के एग्जाम को देने में कोई दिक्कत न आये।

-एग्जाम के लिए अप्लाई करें। और क्रैक करे।

ग्रेजुएशन कम्पलीट करने के बाद आप IBPS के एग्जाम के लिए फॉर्म अप्लाई करे। और अच्छे से पढ़ाई करके अच्छे से एग्जाम दे। जिससे आपका एग्जाम क्रैक हो जाये। याद रखे इसका एग्जाम तीन चरणों में होता है। दो में एग्जाम होता है। और एक इंटरव्यू होता है। तयारी अच्छे से करे। जिससे जिससे ये सभी प्रोसेस आप क्वालीफाई कर सके।
इंटरव्यू कम्पलीट होने के बाद आपको ट्रेनिंग के लिए जाना पड़ेगा। जिसके बाद आप बैंक में PO के रूप म काम कर सकते है।

आइये अब आपको PO एग्जाम के तयारी के लिए कुछ टिप्स दे देते है। जो आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकती है।

इसे भी पढ़े- Bsc kya hai

तैयारी का टिप्स:-
– अपना तार्किक शक्ति बढ़ाने का प्रयास करें।
– IBPS के बुक और कोचिंग से अच्छी तरह तैयारी करें।
– इसके पुराने प्रश्न पत्र को इकट्ठा करें और उसे हल करें।
– खाली समय में GK की तैयारी करें यह बेहद जरूरी है।
– कंप्यूटर के बारे में अच्छी जानकारी रखें।
– आत्मविश्वास होना बेहद जरूरी है परीक्षा के समय बिल्कुल घबराएं नही।
– न्यूज़पेपर हमेशा पढ़ते रहे हैं इससे आपका करंट अफेयर तैयार होगा।
– इसके लिए ज्यादा किताबों का इस्तेमाल ना करें ज्यादा किताबे बहुत ज्यादा कंफ्यूज करती है।
– तैयारी के लिए टाइम टेबल बनाएं और उसका अच्छे से पालन करें।

FAQ

PO क्या होता है।

बैंक में पीओ को प्रोबेशनरी ऑफिसर कहा जाता है यह बैंक के जूनियर मैनेजर एवं असिस्टेंट मैनेजर की तरह होता है। यह बैंकिंग फील्ड में काफी अच्छा पद होता है। इसका भी काम बैंक में असिस्टेंट और जूनियर मेनेजर की तरह ही होता है।

PO का फुल फॉर्म क्या होता है।

PO का फुल फॉर्म प्रोबेशनरी ऑफिसर ( Probationary Officer ) होता है।

बैंक में PO बनने का प्रोसेस क्या है।

PO बनने के लिए सबसे पहले आपको 12th पास करना है। 12th पास करने के बाद आपको ग्रेजुएशन कम्पलीट करना है। उसके बाद आपको PO के लिए आईबीपीएस का एग्जाम देना है। और उसे क्रैक करना है। एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद आपको ट्रेनिंग करनी पड़ेगी। उसके बाद आप बैंक में पीओ बन जायेंगे।

PO के लिए शैक्षिक योग्यता क्या है।

PO बनने के लिए मिनिमम योग्यता कम से कम ग्रेजुएशन पास होना चाहिए। एक बात याद रखे। ग्रेजुएशन में आपका मार्क्स 55% से कम नही होना चाहिए।

PO की सैलरी कितनी होती है।

एक बैंक पीओ की सैलरी बैंक के हिसाब से होती है। जैसा बैंक होता है। उस हिसाब से सैलरी होती। तब भी एक PO की सैलरी लगभग 30-50 हजार के आस पास होती है।

PO का काम क्या होता है।

एक PO का कार्य ग्राहकों को ऋण प्रदान करना है, ऋण प्रदान करने के लिए क्या जरुरी कागज़, दस्तावेज होते है उसकी जांच करके ऋण देना होता है।
Bank PO को Loan, Marketing, Accounting, Finance आदि क्षेत्रो की जानकारी रखनी होती है।

PO के लिए ग्रेजुएशन में कितना मार्क्स चाहिए।

एक PO बनने के लिए ग्रेजुएशन में कम से कम 55% मार्क्स चाहिए। क्योंकि प्राइवेट बैंक में इससे कम पर कोई सुनवाई नही होगी। इतना तो कंपल्सरी है।

PO बनने के लिए आयुसीमा क्या होती है।

PO बनने के लिए आयुसीमा 21-30 वर्ष तक होती है। इसमें ओबीसी, एससी, एसटी इत्यादि वालो को कुछ साल का छूट मिलता है।

प्राइवेट बैंक PO और सरकारी बैंक PO में क्या अंतर है।

एक प्राइवेट बैंक में PO बनना सरकारी बैंक में PO बनने से आसान होता है। और सैलरी की बात करे तो प्राइवेट बैंक के पीओ का सैलरी ज्यादा ही होता है। अगर काम का देखे तो दोनों बैंक में पीओ का काम एक ही होता है।

क्या PO के लिए डायरेक्ट भर्ती भी होती है।

हाँ। कुछ प्राइवेट बैंक में PO की भर्ती डायरेक्ट की जाती है। यह भर्ती आपके डिग्री और स्किल के आधार पर की जाती है।

PO का एग्जाम कितना अटेम्पड दे सकते है।

PO एग्जाम के लिए कोई भी अटेम्पड सीमा नही होती है। जब तक आपकी आयुसीमा के अंदर है। आप एग्जाम दे सकते है। लेकिन SBI ने लिमिट लगा दिया है। जिसमे जनरल केटेगरी के लोग 4 बार ओबीसी के 7 बार, जनरल/ओबीसी (पीडब्लूडी) के लिए 7 बार और एसटी/एससी (पीडब्लूडी) के कोई अटेम्पड सीमा नही है।

IBPS के वेबसाइट का नाम बताइये।

IBPS के वेबसाइट का नाम IBPS.in

उम्मीद करता हूं। यह आर्टिकल पढ़कर आपको PO kaise bane के बारे में सभी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपका इससे सम्बंधित कोई और सवाल है। तो उसे कमेंट में पूछ सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here