अगर आप यह जानना चाहते हैं। Native Ad kya hota hai। इसके क्या फायदे हैं और इसका इस्तेमाल आप कैसे कर सकते हैं तो ध्यान पूर्वक आप इस आर्टिकल को पढ़िए इसमें इन सभी बातों को बिल्कुल अच्छी तरह से बताएं गया तो चलिए अब ज्यादा देर ना करते हुए शुरू करते हैं और बताते इन सभी के बारे में-

हर एक एडसेंस यूजर यही चाहता है कि वह एडसेंस से अच्छी खासी अर्निंग करे। लेकिन जब तक आप को ऐडसेंस के बारे में अच्छी जानकारी नहीं होगी तब तक आप एडसेंस से अच्छा अर्निंग नहीं कर सकते हैं।

इन्हें भी पढ़े-

Adsense Auto Ad क्या होता है।

Native Ad kya hai:-

सबसे पहले आपको बता दें कि Native Ad kya hota hai। नेटिव Ad बिल्कुल आपके साइड के कंटेंट जैसा होता है। लेकिन यह विज्ञापन कंपनी द्वारा मिलता है। और इस विज्ञापन के बदले में आपको पैसा मिलता है। वैसे अगर बात करें नेटिव Ad की तो यह तीन तरह का होता है।

Match content Ad

In-feed Ad

In-Article Ad

Match Content:-

ऐडसेंस के मैच कंटेंट में आपको साइट के ही दिखा जाते हैं। इसमें आपके साइट के 2-4 पोस्ट का लिस्ट दिखाया जाता है। जिससे अगर आपके यूजर को वह चीजें पसंद आए तो वह क्लिक तो आएगा ही साथ में यूज़र आपके साइट पर ज्यादा टाइम तक बने रहेंगे।

हालांकि Match content Ad सभी एडसेंस यूजर को नही मिलता है। अगर आपका अकाउंट इसके योग्य होगा तो इसका ऑप्शन आपको मिलेगा।

In – Feed Ad:-

In-Feed Ad को आपके साइट के Feed के लिए बनाया गया होता है। ऐडसेंस के इन फीड ऐड में 4 तरह के ऐड मिलते हैं।-

#1- Image Above #2- Image on Day side

#3- Title Above। #4- Text only

आप चाहें तो इन चारों में से कोई भी Ad इन फीड आर्टिकल के रूप में यूज कर सकते हैं।

In – Article Ad:-

इन आर्टिकल Ad में आपके आर्टिकल से रिलेटेड ही Ad दिखाई देते हैं। बहुत से लोगो के साथ ऐसा प्रॉब्लम होता है। कि उनके साइट पर उनके आर्टिकल से रिलेटेड Ad नहीं दिखाया जाते हैं। तो वह लोग इस Ad का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें केवल वही Ad दिखाए जाते हैं। जो आपके आर्टिकल से रिलेटेड होते हैं। और यह दिखने में भी काफी अच्छा लगता है।

फायदे:-

– अगर आप नेटिव Ad का इस्तेमाल करते हैं। तो आपके साइट पर अच्छे क्वालिटी के एड दिखाए जाते हैं जिससे यूजर काफी ज्यादा अट्रैक्ट होते हैं।

– नेटिव Ad के इस्तेमाल से आपके साइट का लुक भी काफी अच्छा दिखाई देता है। नेटिव Ad चाहे वह मोबाइल फोन हो, या लैपटॉप या टेबलेट। वह अपने हिसाब से उसे फिट बना देते हैं। जिससे यूजर को अच्छा लगे।

– नेटिव Ad की सबसे खास बात कि इसका इस्तेमाल करना काफी आसान होता है। इसमें आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं होती है।

– नेटिव Ad का इस्तेमाल करने से आपके साइट पर केवल वही Ad दिखायी देंगे। जिसमें यूज़र का इंटरेस्ट होता है। जिससे क्लिक आता है और आपकी कमाई बढ़ती है।

– नेटिव Ad के इस्तेमाल से Ad आपके आर्टिकल में एकदम फिट बैठते हैं। जिसे देखने में भी अच्छा लगता है। नेटिव Ad का इस्तेमाल करने से आपके आर्टिकल का लेआउट भी काफी अट्रैक्टिव हो जाता है।

इस्तेमाल कैसे करें:-

चलिये अब आपको बताते हैं कि आप अपने ऐडसेंस के नेटिव Ad का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं।

सबसे पहले अपना ऐडसेंस अकाउंट ओपन करे। उसके बाद Ads ऑप्शन पर जाकर Ad unit ऑप्शन पर क्लिक करें।

उसके बाद New Ad Unit पर क्लिक करें।

और इसके बाद आप जैसा ऐड बनाना चाहते हैं उसे यहां से सेलेक्ट कर ले।

उसके बाद आपको यहां पर लुक सिलेक्ट करना है कि आपके Ad का लुक कैसा रहेगा।

इसके बाद Save ऑप्शन पर क्लिक करके सेव कर दे।

अब आपको ऐड का कोड मिलेगा। जिसको आपको अपने साइट पर लगाना है। यहा से ad कोड को कॉपी कर ले। उसके बाद साइट पर जाकर कोड को पेस्ट कर दे।

कोड पेस्ट करने के 10-20 मिनट बाद Ad दिखाई देना शुरु हो जाएगा।

तो इस तरह से आप अपने साइट पर नेटिव Ad का इस्तेमाल कर सकते हैं।

उम्मीद करता हूं कि Native Ad kya hota hai। इसके क्या फायदे हैं और इसका इस्तेमाल कैसे करते हैं। यह सभी चीजें आपको समझ में आ गई होंगी। अगर आपकी इससे संबंधित कोई और समस्या है तो आप उसे नीचे कमेंट में पूछ सकते हैं।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here