IIT क्या है? पूरी जानकारी

IIT kya hai

आईआईटी (Indian Institute of technology) जिसे भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कहते है। आईआईटी का परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है। यह स्नातक के लिए होता है।

हर साल इस परीक्षा में लगभग 12-15 लाख लोग हिस्सा लेते है। और इसमें से केवल 10,000 का चयन होता है। यह भारत की कठिन परीक्षाओ में से एक है। लेकिन अगर तैयारी अच्छे से किया जाये तो मुश्किल भी नही है।



देश में कुल 23 आईआईटी कालेज है। जिनमे प्रवेश आईआईटी एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद होता है। यहा से इंजीनियरिंग करके बहुत से लोग करोड़ो का पैकेज पाते है। आईआईटी कालेज द्वारा अच्छे अच्छे इंजीनियर बनाये जाते है। और वो देश विदेश में जाकर काफी अच्छा पैसा कमाते है।

आईआईटी परीक्षा में फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथ का प्रश्न पत्र होता है। आईआईटी परीक्षा के तैयारी के लिए बहुत से प्रशिक्षण केंद्र है। जिनमे जाकर आप तैयारी कर सकते है।

परीक्षा:-

2013 से आईआईटी की प्रवेश परीक्षा दो भागों में संपन्न कराई जाती है एक जेईई मेंस तथा दूसरा जेईई एडवांस।

सबसे पहले कोई विद्यार्थी अगर IIT में आवेदन करना चाहता है तो उसको सबसे पहले मेंस का पेपर देना होगा मेंस में क्वालीफाई हो जाने के बाद वह एडवांस के लिए आवेदन कर सकता है लगभग हर साल डेढ़ लाख विद्यार्थी एडवांस एग्जाम में बैठते है।



योग्यता:-

अगर योग्यता को देखा जाए तो 10+2 यानी 12 वीं कक्षा के अपने बोर्ड परीक्षा में शीर्ष 20 फ़ीसदी अंक प्राप्त करने वाले छात्र इस परीक्षा में जा सकते हैं अभी इसके लिए 75 फ़ीसदी अंक अनिवार्य है यह समय पर बदलता रहता है।

यह देश के सभी बोर्ड के मूल्यांकन के आधार पर तय किया जाता है। अगर उम्र देखा जाए तो जिन लोगों का जन्म 1-10-1994 या उसके बाद का है। तो वह 2019 का एग्जाम दे सकते हैं। इसके लिए अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और विकलांग को कुछ छूट दिया जाता है



परीक्षा पैटर्न:-

इसमें दो तरह का पेपर होता है

पेपर-1 (बी.ई/बी.टेक)

इसमें गणित, रसायन विज्ञान तथा भौतिक विज्ञान के 30-30 प्रश्न होते हैं। प्रत्येक प्रश्न चार अंको का होता है कुल 90 प्रश्न होते हैं। तथा कुल पूर्णाक 360 अंको का होता है।

पेपर-2 (बी.आर्क/बी.प्लानिंग)

इसमें गणित के 30 प्रश्न जो 120 अंकों का एप्टिट्यूड टेस्ट के 50 जो 200 अंको का होता है। और ड्राइंग टेस्ट के 2 प्रश्न जो 70 अंको के होते हैं। कुल समय 3 घंटे का होता है।

जरुरी बातें:-

  • इसमें प्रयासों की सीमा तीन तक होती है नागालैंड उड़ीसा तथा मध्य प्रदेश में कुछ अलग है।
  • अगर आपको IIT का एग्जाम देना है तो आप इसके लेटेस्ट अपडेट को हमेशा देखते रहें।
  • साल 2019 से आईआईटी का प्रवेश परीक्षा दो बार आयोजित की जाएगी एक बार जनवरी में और एक बार अप्रैल के महीने में।
  • पहले एग्जाम में बैठने की अधिकतम सीमा 3 तक थी लेकिन अब ऐसा माना जा रहा है कि एक विद्यार्थी अधिकतम 6 बार इस परीक्षा में शामिल हो।



आईआईटी के कॉलेज:-

– IIT बनारस

– IIT भुवनेश्वर

– IIT मुंबई

– IIT दिल्ली

– IIT गुवाहाटी

– IIT गांधीनगर

– IIT हैदराबाद

– IIT इंदौर

– IIT कानपुर

– IIT खड़गपुर

– IIT चेन्नई

– IIT मंडी

– IIT पटना

– IIT रुड़की

– IIT रोपड़

– IIT धनबाद

Share

14 thoughts on “IIT क्या है? पूरी जानकारी”

  1. Sir meane 10th class pass karne ke bad 3 sal padhai nahi ki hai ab ki bar 12th class ka form bhara hai kya mean iit ki tayari kar ke paper de sakta hu

  2. Sir meane 10th class ka paper dene ke bad 3 sal padhai nahi ki hai ab ki bar 12th ka form dala hea kya mean iit paper de sakta hu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *