GPRS full form
GPRS full form

GPRS Full Form

अगर आप GPRS Full Form और GPRS से जुड़े अन्य तथ्यों के बारे में जानना चाहते है। तो इस लेख को पूरा पढ़े। इस लेख में आपको GPRS Full Form और इससे जुड़े अन्य बातों के बारे में बताएँगे।

वैसे अगर आप मोबाइल फ़ोन या लैपटॉप का इस्तेमाल किये होंगे तो GPRS का नाम जरूर सुने होंगे। या फिर अगर आप डाटा का अपने नंबर पर रिचार्ज कराते होंगे तो SMS आता है। Your GPRS Pack is Activate.

पर क्या कभी आपने सोचा है। कि GPRS का फुल फॉर्म क्या होता है। जरूर सोचे होंगे तभी तो आप यहाँ आकर यह आर्टिकल पढ़ रहे है। आइये सबसे पहले आपको GPRS का फुल फॉर्म को बताते है।

अगर बात करे GPRS Full Form का तो इसका फुल फॉर्म General Pack Radio Service होता है।

GPRS एक ऐसा सर्विस होता है। जिसका काम डाटा को रेडियो वेव के जरिये ट्रांसमिट करना होता है। जब इन्टरनेट नही आया था। तब मोबाइल का इस्तेमाल हम कॉल करने या सुनने के लिए इस्तेमाल करते थे। जो GSM ( Globle System For Mobile Technology ) द्वारा सम्भव होता था। इसके बाद इन्टरनेट आया। और GPRS के कारण हम इन्टरनेट चला पते है।

यह पहली टेक्नोलॉजी थी जो सेल नेटवर्क को इंटरनेट आईपी से कनेक्ट करने में सक्षम किया। यह 2G और 3G के लिए इस्तेमल किया जाता है। यह यूरोप और एशिया का सबसे ज्यादा इस्तेमल किया जाने वाला डाटा एक्सेस मॉडल था। इसे 2.5G नेटवर्क भी खा जाता है। क्योंकि यह 2G और 3G के ज़माने में आया था।

GPRS से जुड़ी बातें।

GPRS फ़ोन को 56kB-114kB का स्पीड प्रोवाइड करता था। हलाकि यह स्पीड इस टाइम बहुत कम है। पर उस टाइम में यह स्पीड बहुत तेज़ मणि जाती थी।

GSM के मदद से हम एक मिनट में 6-10 मैसेज भेज या रिसीव कर पाते थे। लेकिन GPRS के आने के बाद हम एक मिनट में 30 मैसेज तक भेज सकते है।

पहले GPRS आया था। तो स्पीड बहुत कम था। जिसको ऊपर मैंने बताया है। इसके बाद EDGE टेक्नोलॉजी आया जिससे स्पीड बढ़कर अब 1 Mbps तक हो गयी है।
GPRS टेक्नोलॉजी
Gprs टेक्नोलॉजी को निम् चरण में विभाजित किया गया है।
चरण-1
यह चरण GPRS और GSM को आपस में जोड़ता है। जस कालिंग और SMS दोनों सेवाएं एक साथ इस्तेमाल कर सकते है।
चरण-2
यह चरण GPRS और GSM को आपस में जोड़ता है। जिससे हम कॉल और SMS में से किसी एक का एक समय में इस्तेमाल कर सकते है।
चरण-3
इस चरण मर दोनों सेवाएं को आपस में चेंज कर दिया गया है।
GPRS का इस्तेमाल
SMS ( Short Message Service )

MMS ( Multimedia Message Service )

P2P ( Point to Point )

Wireless App Protocol ( WAP )

Push to talk over Cellular ( PoC )

उम्मीद करता हूं। कि यह लेख पढ़ कर आपको GPRS Full Form और इससे जुड़े जानकारी आपको मिल गयी होगी। जो लोग इस जानकारी से अंजान है। उनके पास यह लेख जरूर शेयर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here