Google Adsense से low Earning होने के कारण।

इस समय नए ब्लॉगर इसी समस्या से परेशान है कि उन्हें Adsense se earning low हो रही है। यह ब्लोग्गेर्स के लिए एक बड़ी समस्या भी है। हर एक ब्लॉगर यही चाहता है कि वह ऐडसेंस से अच्छी खासी कमाई करें। लेकिन जब कमाई बहुत कम होने लगता है तो वह बहुत ही निराश हो जाता है।

अगर गूगल ऐडसेंस को देखें तो यह CPC पर कार्य करता है। हर क्लिक पर आपको उसके पैसे मिलते हैं। हां यह बात लाजमी है। कि CPC हमेशा एक जैसा नहीं होता। लेकिन अगर CPC हमेशा केवल $0.01-$0.02 पर ही रहे। तो आप के साथ अन्याय है।

Low Earning वाली समस्या अधिकतर नए ब्लॉगर के साथ होती है। नए ब्लॉगर के पास तो शुरू में ज्यादा ट्रैफिक होती नहीं है। और क्लिक भी कम आते हैं। और इस पर CPC भी कम मिलने लगे तो सोचिए उस पर क्या बीतेगा।

बहुत से ब्लोग्गेर्स इसी समस्या की वजह से ब्लॉग्गिंग भी छोड़ देते हैं। यह Adsense se Low Earning वाली समस्या आपके छोटे छोटे गलतियों की वजह से भी हो सकता है। वैसे कुछ कारण जरूर होते हैं। जिनको हम यहां पर बताने वाले हैं जिससे आपकी Earning low हो जाती है।

Reason बताने से पहले कुछ और बातें हैं जिन्हें आपको यहां पर मैं बताने वाला हूं। अगर Earning को देखे तो यह वेबसाइट के लैंग्वेज पर भी डिपेंड करता है। अगर आपकी साइट इंग्लिश में है। तो उस पर CPC High मिलती है। लेकिन अगर आपका साइट हिंदी में तो उसकी CPC कम होती है।

हिंदी साइट के लिए सीपीसी $0.04-$0.10 तक होती है। लेकिन अब सीपीसी $0.01-$0.02 हमेशा रहने लगे। तो कुछ गलती आप कर रहे हैं। जिससे low Earning हो रही है। जिन्हें सुधारने की जरूरत है।

Content पर फोकस करें:-

अगर आप एक नया ब्लागर हैं। तो सोचते हैं कि जल्द से जल्द Adsense से ढेर सारा पैसा कमाना शुरू कर दे तो ऐसा बिल्कुल नहीं होता है। ब्लॉग में इतना जल्दी नहीं कोई ढेर सारा पैसा कमा सकता है। टाइम लगता है। नया ब्लॉगर शुरू में अपने कंटेंट पर ध्यान ना देकर पैसे कमाने के चक्कर में लगे रहते हैं। अगर आप ऐसा करते हैं। तो ना करें। साइट पर अच्छे-अच्छे कंटेंट लिखते जाएं जिससे अच्छी Earning होनी शुरू हो जाएगी।

Low CPC Topic:-

ऐडसेंस से Low Earning होने का सबसे बड़ा कारण हो सकता है। कि आप जिस टॉपिक पर आर्टिकल लिखते हो। उस पर ऐडसेंस कम सीपीसी के हिसाब से pay करता हो। इसलिए आपका ऐडसेंस से अर्निंग कम होता हो।

Low Rated Ad:-

ऐडसेंस के पास low सीपीसी और high सीपीसी दोनों तरह के Ad होते हैं। ऐसा भी हो सकता है कि आपके साइट पर low सीपीसी के ज्यादा Ad दिखते हो। जिससे आपकी ऐडसेंस से Earning low हो। ऐडसेंस में low सीपीसी के ऐड को ना दिखाने के लिए इसे ब्लॉक करना पड़ता है। तभी आप एडसेंस से low earning की प्रॉब्लम को दूर कर सकते हैं।

Ad Placement:-

Low earning होने की Ad Placement भी एक बड़ी समस्या हो सकता है। हो सकता है। आपका ad प्लेसमेंट सही ना हो कि किस जगह पर Ad लगाना चाहिए किस जगह पर नहीं। आप सही प्लेस का चुनाव नही कर पा रहे हो। इसलिए आपकी अर्निंग low होती हो।

Recommend Ad Size:-

हो सकता है कि आप जिस Ad का साइट पर यूज कर रहे हैं। उनका size ज्यादा या कम हो। इसलिए आपकी earning low होती है। एडसेंस के high earning के लिए Ad Recommend size नीचे दी गई है।

Site पर ज्यादा Ad का यूज़ करना:-

बहुत से ब्लोग्गेर्स ऐसे होते हैं जो सोचते हैं कि अगर साइट पर ज्यादा Ad लगाएंगे तो ज्यादा Ad क्लिक भी मिलेगी और ज्यादा कमाई भी होगी। लेकिन ऐसा कुछ नहीं होता है। ज्यादा Ad का यूज करने से साइट का लुक भी अच्छा नहीं लगता और earning तो low होती ही है।

Traffic पर फोकस करें:-

नए ब्लॉगर के लिए बड़ी समस्या होती है। की शुरू के टाइम में उनके पास ट्रैफिक नहीं होता है। और ना ही Ad क्लिक मिलते हैं। जिसके कारण उनकी earning low होती है। उनको earning पर ज्यादा ध्यान ना देकर साइट पर ट्रैफिक कैसे लाया जाए इस पर ध्यान देना चाहिए।

Ad work कर रहा है या नही:-

अधिकतर ब्लोग्गेर्स यही करते हैं। कि वह एक बार अपनी साइट पर Ad लगा देते हैं। फिर उस पर ध्यान नहीं देते कि क्या साइट पर Ad सही तरीके से दिख रहा है या नहीं। आपको हमेशा ये चेक करने चाहिए। low earning होने का यह भी एक कारण है।

Fast loaded theme का Use ना करना:-

Low earning होने का यह भी एक कारण हो सकता है कि आपके साइट पर जो थीम है। वह फास्ट लोड नही होता है। क्योंकि अगर आपकी साइट slow लोड होगी। तो Ad भी slow लोड होगा। इससे आपकी earning low होना लाजमी है।

उम्मीद करता हूं। कि आर्टिकल पढ़कर आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा। अगर आपकी इससे संबंधित कोई और समस्या है। तो आप उसे नीचे कमेंट में पूछ सकते हैं।

Share

About Amit Maurya

मेरा नाम अमित मौर्या है। मैं उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले से हू। मेरा बचपन से शौक था कि दूसरों की मदद करू। जो मैं एक ब्लॉगर के रूप में कर रहा हू।

View all posts by Amit Maurya →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *