अकेलापन कैसे दूर करे

Akelapan kaise dur kare

Akelapan kaise dur kare:-
धरती पर जन्म लेने वाले सभी व्यकि कभी-न-कभी अकेलेपन का शिकार होते है। चाहे भले ही क्यों ना वो व्यक्ति एक खास व्यक्ति या आम व्यक्ति हो। कभी-ना-कभी वो अकेलापन जरूर महसूस करता है।

आज-कल ये समस्या ज्यादातर नौजवान युवको एवं बच्चों की है। अकेलापन कोई बीमारी नही है। यह केवल आपके मानसिक सोच पर निर्भर करता है।

आज के समय में संसार में ऐसी तमाम परिस्थितिया एवं कारण व्याप्त है जिनके कारण लोग अकेलेपन का शिकार हो जाते है। हलाकि किसी व्यकि के अंदर अकेलापन होना बहुत जरुरी है सफलता की नई-नई सीढ़िया चढ़ने के लिए अकेलापन होना बेहद जरुरी है।

इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की किसी व्यक्ति को अकेलापन कब और क्यों महसूस होता है,अकेलापन हमारी सफलता के लिये कैसे जरुरी है। और अकेलेपन से निजात कैसे पाया जाये।

अकेलापन महसूस होने के कारण:-

  • किसी व्यक्ति के ऊपर ज्यादा निर्भर होना। उदाहरण के लिए मान लीजिये आप किसी व्यक्ति पर बिल्कुल ही निर्भर है आपके सभी कार्यो में वो आपका साथ देता है। उसके बिना कुछ भी करने में आपको मजा नही आता है। अगर वो व्यक्ति किसी कारण-वस आपसे दूर चला जाता है। या किसी कारण-वस वह आपसे दूर रहना चाहता है। आपसे नफरत करता है। तो आपके अकेलापन बहुत ज्यादा महसूस होता है।

  • अकेलापन महसूस होने का सबसे बड़ा कारण किसी से अत्यधिक लगाव है। मन लीजिये आप अपने परिवार के किसी सदस्य से काफी ज्यादा लगाव है। उसके प्रति आपके अंदर अटूट प्रेम की भावना है। तो अगर उनकी मृत्यु हो जाये तो बहुत ज्यादा अकेलापन महसूस होता है। इस स्थिति में चाहे कोई खास व्यक्ति ही क्यों ना हो अकेलापन उसे जरूर सताता है।

  • आज के समय में बच्चों में अकेलापन की समस्या गर्लफ्रेंड के ब्रेकअप को लेकर है। कोई लड़का अगर अपने गर्लफ्रेंड को ज्यादा चाहता है। अगर किसी कारण-वस उसके गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप हो जाये तो वो लड़का खुद को इतना ज्यादा अकेला महसूस करता है। कि उससे पूछिये मत। उस समय वो अपने दोस्त को कॉल लगाता है और सारा कथा सुना देता है। कहता है अरे यार भाई मै तो अब ख़त्म हो गया हूँ। सब कुछ बर्बाद हो गया। भाई अब मै सोच रहा हू। कि कहि जाकर मर जाऊ वगैरह जैसी बातें। ये आज के समय में काफी बड़ी समस्या है।

(Akelapan kaise dur kre)

अकेलापन दूर कैसे करे:-

(Akelapan kaise dur kare)

  • कई बार ऐसा होता है। कि घर का कोई सदस्य जिससे आपका लगाव होता है। उसके मृत्यु हो जाने से आप बहुत ही अकेला महसूस करते है। क्योंकि आज के समय में मोह-माया काफी ज्यादा है। उस समय आपको जरुरत है कि आप अपने मानसिक सोच को बदले। पीछे की बातें सोचने के बजाय आप अपने मन को बहलाये। आप अपने मन को अपने पसंदीदा चीजो की ओर ले जाये।

  • अगर आप किसी व्यक्ति पर निर्भर है। और वो आपको छोड़ देता है तो आप यह ना सोचे की आगे क्या होगा कैसे क्या हम कुछ कर पाएंगे।आप ये मत सोचिये की हम बिलकुल अकेले है। इस समय आपको जरुरत है की आप आपकी मानसिक सोच को बदले। आप उस समय अपने अंदर साहस एवं धैर्य लाये की आप अकेले ही बहुत कुछ कर सकते है।

  • अगर आप अपने गर्लफ्रेंड के ब्रेकअप को लेकर अकेला पन महसूस कर रहे हो तो आपको उस समय यह तुलना करना सही होगा की आप जब बिना गर्ल फ्रेंड के थे तब आपको ज्यादा मजा आता था या गर्ल मिलने के बाद। इसमें अगर आप तुलना करेंगे तो पाएंगे की जब आप बिना गर्ल फ्रेंड के थे तब आप अच्छे थे। उस समय रोने-धोने से अच्छा है की आप अपनी सोच बदले। और आगे क्या करना है इन बातों पर ध्यान दे।

  • बच्चों में कई बार ऐसा होता है की उसके कई दोस्त एक ही साथ रहकर 4-5 साल पढे होते है। बाद में कोई कहि और कोई कहि पढ़ने के लिए चला जाता है तो उस समय अकेले रहने पर ज्यादा अकेलापन महसूस होता है। उस समय इस सभी दोस्तों के बारे में थोडा काम सोच कर आपको वहा नए दोस्त बनाये चाहिए। अगर आप उस शहर में अकेला महसूस कर रहे हो। तो आपको आपको उस शहर के नए स्थानों पर घूमने जाना चाहिए। वहा के लोगो से परिचय बनाना चाहिए।

  • अगर आपको किसी ज्यादा महत्वपूर्ण चीज की वजह से अकेलापन महसूस हो रहा है। तो आपने आपको को सुधारे। किसी भी चिज को अधिक महत्वपूर्ण ना माने। उसे इतना महत्वपूर्ण माने वो जितना है।

  • कई बार ऐसा होता है की आप अकेले घर पर है। और आपके अंदर काफी अजीबी एवम् डरावनी विचार आ रहे है तो आप खुद को अकेला महसूस करोगे। आप डरोगे। लेकिन अगर आप के मन में इन अजीब एवं डरावनी विचारो की जगह आपका इंटरटेनमेंट हो। आपके विचार में आपकी पसंदीदा चीजे आ रही हो। तो आप बिल्कुल ही अकेला नही महसूस करोगे। अगर आपको अकेले होने से डर लगता है तो आप अपने अंदर अपने पसंदीदा एवं इंटरटेनमेंट विचार लाइए।

  • इसके अलावा अगर आप किसी कारण से अकेलापन महसूस कर रहे है तो आप उस समय अपने पसंदीदा खेलो,खान-पान, पसंदीदा कामो में अपना समय व्यतीत कर सकते है। उस समय आपको अपनी मानसिक सोच बदलकर अपने अंदर साहस एवम् धैर्य लेन की कोशिश करे।

इसके अलावा आप सोशल मीडिया द्वारा अपने मित्रो से कनेक्ट रहकर कुछ देर तक अकेलापन दूर कर सकते है। कुल मिलाकर आपको वहा की परिस्थितियों के अनुरूप डालना होगा।

(Akelapan kaise dur kare)

अकेलापन महसूस होना क्यों जरूरी है:-

अब अकेलापन महसूस होना क्यों जरुरी है इसके बारे में भी जान लेते है। मान लीजिए अगर आप किसी पर आश्रित है। अगर वो आपको छोड़ कर चला जायेगा तब आप अकेला महसूस करेंगे तो आप खुद को किसी काबिल बनाने के बारे में सोचेंगे। आप खुद को ज्यादा अहमियत देने लगेंगे। इसके अलावा अगर आप का कोई सहायक आपको छोड़कर चला जायेगा तो आप खुद परेशान हो जाओगे। आप खुद ही आगे जाने के लिए अपने आप को प्रेरित करोगे। उस समय आपके अंदर साहस, धैर्य काफी ज्यादा आएगा। आप दृढ़ निश्चयी हो जाओगे। खुद को स्थिति के अनुरूप ढालना सिख जाओगे। जिसके बाद आप सफलता की उचाईयो को छूना सिख जाओगे।

(Akelapan kaise dur kare)

अकेलापन महसूस होने पर जरुरत है की आप अपने मानसिक सोच को बदले।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *