Adsense Disable hone se kaise bachaye

सभी ब्लागर वेबसाइट से पैसा कमाने के लिए गूगल ऐडसेंस का ही यूज करते हैं। अगर कोई ब्लॉगर अपने ब्लॉग पर खूब मेहनत करें और बदले में उसे कोई फायदा न मिले। तो उसे कैसा लगा। बस कुछ इसी तरह होता है। जब एक ब्लॉगर का ऐडसेंस अकाउंट डिसेबल हो जाता है।

क्योंकि लगभग सभी ब्लॉगर अर्निंग के लिए एडसेंस का यूज़ करते हैं। लेकिन अब अगर एडसेंस disable हो जाए तो बहुत दुख होता है।

एक नए ब्लॉगर के लिए ऐडसेंस अप्रूव होना बहुत बड़ी बात होती है उस टाइम बहुत खुश होता है। लेकिन जब वही अकाउंट डिसेबल हो जाए तो उससे जाकर पूछो। अगर अकाउंट डिसेबल हो जाए तो नींद तक उड़ जाती है। कि यह क्या हो गया मेरे साथ।

ऐसा क्यों होता है ऐडसेंस जानबूझकर आपका अकाउंट डिसेबल नहीं करता है। ऐसा आपकी छोटी-छोटी गलतियों के कारण होता है। छोटी-छोटी गलतियों का कितना बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ता है। यह एडसेंस जब डिसेबल हो जाता है। तब पता चलता है। हम आपको इस आर्टिकल में कुछ ऐसी बातें बताएंगे जिन्हें अगर आप एक नए ब्लॉगर है। तो इसे फॉलो करके अपना Adsense Disable hone se kaise bachaye सकते हैं।

चलिए अब आपको बताते हैं कि उन सभी बातों को जिन्हें अगर आप एक नए ऐडसेंस यूजर हो तो उन्हें फॉलो करना चाहिए-

Copyright Content:-

वैसे कॉपीराइट कंटेंट वाले साइट के लिए ऐडसेंस का अप्रूवल मिलता नही है। लेकिन अगर आप ऐडसेंस अपप्रोवे होने के बाद अगर आप अपने ब्लॉग पर कॉपीराइट कंटेंट रखते हैं। तो एडसेंस डिसएबल होने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा। क्योंकि ऐडसेंस कॉपीराइट चीजो पर अपना विज्ञापन अलाउड नहीं करता है। इसलिए आप अपने साइट पर कॉपीराइट कंटेंट का इस्तेमाल ना करें।

Self Click:-

आज के टाइम में ऐडसेंस डिसएबल होने का सबसे बड़ा कारण self click है। अधिकतर एडसेंस डिसएबल सेल्फ क्लिक द्वारा ही होता है। जब एक नया ब्लॉगर शुरू में अप्रूवल पाता है तो उसके पास ज्यादा ट्रैफिक नहीं होता है। जिससे एडसेंस से उसकी कमाई बहुत कम होती है।

अब उससे रहा नहीं जाता है। तो पैसा कमाने के लिए चक्कर में वह खुद ही ऐडसेंस के ऐड पर क्लिक करके अपना कमाई बढ़ाना चाहता है। Adsense को ऐसा देखा नहीं जाता है। और वह एक अकाउंट डिसेबल करने में ज्यादा देर नहीं लगाता है।

इसलिए आप खुद के ऐड पर क्लिक न करें साथ में अभी बात याद रखें कि यह काम किसी और से ना कराये मतलब किसी दूसरे व्यक्ति से कहकर खुद के ऐड पर बार बार क्लिक ना करें। नहीं तो एडसेंस डिसएबल कब होगा पता नहीं चलेगा। यह सब ऐडसेंस के T&C के खिलाफ आता है। भलाई इसी में है कि आप ऐसा ना करें।

Unverified Site पर Ad न लगाएं:-

वैसे ऐडसेंस ये allow करता है। कि आप उनके ऐड कहीं यूज कर सकते हैं। लेकिन अगर आप ऐडसेंस का ad आप unverified साइट पर इस्तेमाल करेंगे तो हो सकता है कि आपका एडसेंस डिसएबल हो जाए। आपको जिस साइट पर एड लगाना है। उसे अपने एडसेंस अकाउंट में वेरीफाई कर लें तभी उस साइड पर ad इसका इस्तेमाल करें।

Policy & Rule को फॉलो करें

आजकल के नए ब्लॉगर ऐडसेंस के पॉलिसी और रूल पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं। जो कि उनके लिए बहुत घातक साबित हो सकता है। वैसे ऐडसेंस का पॉलिसी और रूल हमेशा चेंज होता रहता है। इसलिए आप एडसेंस के पालिसी और रूल पर जरूर ध्यान दे। कि ऐडसेंस क्या रूल और रेगुलेशन रखता है। उसी के हिसाब से चले तो आपके लिए अच्छा होगा।

Ad Code के साथ छेड़छाड़ ना करें:-

ऐडसेंस अप्रूवल मिलने के बाद कुछ लोग ऐसे होते हैं जो उन्हें ऐडसेंस के Ad का कोड साइट में लगाने के लिए मिलता है। वह थोड़ी बहुत एडिटिंग करना जानते हैं। तो वह उसके साथ खिलवाड़ करने लगते हैं। भलाई इसी में है। कि आप ऐसे करतूत ना करें। नहीं तो एडसेंस डिसएबल होने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा।

दूसरे कम्पनी के Ad का यूज ना करें:-

आप अपने साइट पर ऐडसेंस के Ad के साथ किसी दूसरे Ad नेटवर्क कंपनी के Ad का इस्तेमाल ना करें। क्योंकि ऐडसेंस चीजे allow नहीं करता है।

अगर आप इन सभी चीजों को फॉलो करते हैं तो आपका एडसेंस डिसएबल होने से बच सकता है।

उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आप Adsense Disable hone se kaise bachaye जा सकता है इसके बारे में जान गये होंगे। अगर आपकी से संबंधित कोई और समस्या है तो आप उसे नीचे कमेंट में पूछ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here