Adsense approve ke bad kya kare

एडसेंस अकाउंट अप्रूव हो जाने के बाद अक्सर लोग कंफ्यूज हो जाते हैं कि आगे उन्हें क्या करना है। अगर कोई भी इस फिल्ड में नया होगा। तो इस बात में कोई दो राय नहीं की ऐडसेंस अकाउंट के बारे में वह सभी चीजें जानता ही होगा। नए होने के नाते डर बना होता है कि कहीं जो आगे कर रहा है उसमें कुछ गलत ना हो जाए।

क्योंकि ऐडसेंस अकाउंट approve हो जाना। नया ब्लॉगर के लिए कोई छोटी बात नहीं है। अप्रूवल मिल जाने के बाद खुशी का ठिकाना नहीं होता है। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अप्रूवल मिल जाने के बाद सोचते हैं कि अब से ही तो वह इससे काफी अच्छी खासी कमाई करेंगे। वह सोचते हैं कि अब वह आगे कुछ भी करेंगे सब सही होगा। उनको जरा इस बात की भी ध्यान देने की जरूरत है कि जितना जल्दी उनका अकाउंट अप्रूव हुआ है disapprove होने में भी ज्यादा समय नहीं लगेगा।

इन्हें भी पढ़े-

Google Admob क्या है

कुछ ऐसे बातें हैं जिन्हें आपको याद रखने की जरूरत है। चलिए अब आपको बताते हैं की आपको आगे क्या करना है।

#Ads Selection

सबसे पहले आप अपने ऐडसेंस अकाउंट में जाकर ads सेक्शन में जाएं

और वहां से auto ad सेक्शन से विज्ञापन को सेट करें

या तो फिर आप Ad unit ऑप्शन पर जा कर एक नया विज्ञापन बनाएं।

इसमें आप ऐसे विज्ञापन का सिलेक्शन करें जो आपके साइट पर फिट बैठे। उसके बाद ad के कोड को आप अपने साइट के HTML में कॉपी करके पेस्ट कर दे। जिससे आपका विज्ञापन जल्द से जल्द दिखना शुरू हो जाए।

#Site verify

ऐडसेंस अप्रूव होने के बाद जरूरी होता है। कि आप अपने साइट को ऐडसेंस से वेरीफाई करें ताकि ऐडसेंस को यह पता लग सके। कि यह आपकी साइट और ऐडसेंस आपकी साइट पर विज्ञापन जल्द से जल्द दिखाना शुरू कर सके। साइट वेरीफाई के लिए आपको ऐडसेंस के सेटिंग्स ऑप्शन में आना है।

वहां से आप साइट ऑप्शन को ओपन करें

उसके बाद यहां देखें की आपकी साइट वेरीफाई है या नहीं अगर आप का साइट पर वेरीफाई होगा तो साइट के नाम में ग्रीन ट्रिक होगा।

अगर नहीं है तो manage ऑप्शन पर क्लिक करके यहां से वेरीफाई कर ले।

#Increase trafic

ऐडसेंस अप्रूव होने के बाद आपको अपने साइड की ट्रैफिक बढ़ाने की जरूरत है। जिससे आप अपने साइट से अच्छी खासी अर्निंग कर सके।

#Self click

जब ऐडसेंस अप्रूव हो जाता है। तब शुरू के दिनों में earning इतनी कम होती है कि इसके बारे में क्या कहा जाये। ऐसे में क्या होता है कि कई लोग अर्निंग बढ़ाने के लिए खुद ही ऐड पर क्लिक करते हैं। और दूसरों से भी कह कर खूब क्लिक कराते हैं। हां इससे तो अर्निंग बढ़ती है पर जिस दिन ऐडसेंस वालों को इसके आईपी ऐड्रेस के बारे में पता चल जाता है। उस दिन बिना ऐडसेंस अकाउंट को disapprove किये दम नहीं लेगा।

इसलिए खुद ऐड पर क्लिक ना करें और लोगों से ना कराये। सब्र रखे कुछ दिन बाद से धीरे-धीरे अर्निंग बढ़नी शुरू हो जाती हैं। तो यह सब कुछ काम है। जो आपको ऐडसेंस अप्रूव हो जाने के बाद करना है।
उम्मीद करता हु की यह आर्टिकल पढ़कर आपको adsense approve ke bad kya kare समझ में आ गया होगा।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here